*MBBS के लिए सबसे सस्ता और अच्छा देश, (Best and very cost effective country for MBBS)*

*MBBS के लिए सबसे सस्ता और अच्छा देश, (Best and very cost effective country for MBBS)*

*MBBS के लिए सबसे सस्ता और अच्छा देश, (Best and very cost effective country for MBBS)* 

डॉक्टर को हमारे समाज मे सबसे जायदा सम्मान प्राप्त है । लोग इस proffesion को बड़े सम्मान से देखते हैं। यही कारण है कि डॉक्टर बनने का dream हर स्टूडेंट  देखता है। पैरेंट्स भी  चाहते हैं कि उनके बच्चे मेडिकल की पढ़ाई करे, क्यूंकि इस पेशे मे सम्मान के साथ लोगो की सेवा करने का भी सीधे मौका मिलता है । लेकिन ये ड्रीम  पूरा होने में भारत में उपलब्ध सीटों की कमी बड़ी समस्या  है।  

साल 2020 मे NEET के परीक्षा देने के लिए 16.84 लाख बच्चों ने फॉर्म भरा है अब सीट की बात करे तो 2020 मे  goverment के मेडिकल college की संख्या 272 है और इनमे 41388 हजार सीटें हैं। इनमें कम लागत में बेहतर शिक्षा मिलती है, लेकिन यहांं नामांकन पाना कठिन है।अगर private college की सीट की बात की जाए तो यंहा 35540 सीट उपलब्ध है , जिनकी फीस काफी अधिक है। कई कॉलेजों में तो फीस 15 लाख प्रति वर्ष तक है। अगर मैनेजमेंट कोटा  की बात करे तो अधिकांश निजी कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स के लिए 50 लाख रुपए से 90 लाख रुपए के बीच मांग करते हैं। बहुत अत्यधिक कॉम्पीटिशन , बहुत कम सीटों और अत्यधिक फीस के कारण भारतीय छात्र MBBS करने के लिए विदेश का रुख कर रहे हैं ।

और विदेशो की बात करे तो बीते आधे दशक मे सबसे जायदा माइग्रेशन और पसंदीदा देश MBBS के पढ़ाई के लिए Philippines देश रहा है 

Philippins का एजुकेशन सिस्टम अमेरिका के एजुकेशन सिस्टम पर आधारित है 

अमेरिकन पद्धति पर आधारित होने से indian स्डूडेंट को काफ़ी सहूलियत हो जाती है। 

यहां पूरी पढ़ाई को दो भागों में बांटा गया है। पहला भाग बीएस प्रोग्राम होता है जो 1.5 साल का होता है, उसके बाद एमडी कोर्स करना होता है, जो चार साल का होता है। फिलीपींस में मेडिकल शिक्षा का खर्च भारतीय रुपए में लगभग 14 लाख से 15 लाख तक पड़ता है। इस खर्च को इंस्टॉलमेंट में दिया जा सकता है। मुख्यतः प्रथम साल में कॉलेज चार लाख तक फीस लेते हैं, बाकी साल में बचे हुए फीस जमा करना होता है। कॉलेज फीस को अपने कॉलेज अकाउंट में ही लेना पसंद करते हैं, जिससे सब कुछ पारदर्शी रहता है। फिलीपींस में भारत से जाने वाले छात्रों की संख्या को देखते हुए कॉलेजों ने यहां के छात्रों के लिए अलग मेस और हॉस्टल  की सुविधा भी दी है। 

बीते कुछ सालो मे फिलीपींस मेडिकल शिक्षा का नया ठिकाना बन गया है ।फिलीपींस MBBS के मामले में सबसे अच्छा माना जा रहा है। फिलीपींस एक एशियाई देश है, जहां की मुख्य भाषा English है और यह दुनिया का तीसरा  सबसे बड़ा english बोलने वाला देश है। भारत की तरह वहां भी शिक्षा के सभी स्तरों में अंग्रेजी भाषा का प्रयोग होता है। फिलीपींस की जलवायु ऊष्णकटिबंधीय है, जिससे वहां गए छात्रों सामान्य महसूस करते हैं। वहां रोगों का स्वरूप या पैटर्न भी भारत जैसे ऊष्णकटिबंधीय जलवायु के समान है। जलवायु और रोग पैटर्न छात्रों को एक व्यावहारिक अनुभव देता है। पिछले कुछ वर्षों में फिलीपींस में मेडिकल की शिक्षा ग्रहण करने की इच्छा रखने वाले भारतीय की संख्या में बहुत जायदा  इजाफा हुआ है। मुख्यत दक्षिण भारत, राजस्थान, दिल्ली,  बिहार, उत्तरप्रदेश और गुजरात से काफी संख्या में लोग फिलीपींस में मेडिकल की पढ़ाई करना पसंद कर रहे हैं। 

MBBS के पढ़ाई के लिए बाहर के देशों में मुख्य रूप से रूस,  ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, इंग्लैंड, उक्रेन, आर्मेनिया, कजाकिस्तान, जॉर्जिया, फिलीपींस आदि हैं। भारत से MBBS की पढ़ाई  के लिए स्टूडेंट्स कई वर्षों से इन देशों में जा रहे हैं और बहुत से स्टूडेंट  वापस आकर भारत में प्रैक्टिस भी कर रहे हैं। पारंपरिक तौर पर हमारे यहां से लोग रूस और इंग्लैंड से काफी संख्या में MBBS की शिक्षा प्राप्त किये हैँ।  करीब एक दशक पहले जब भारत में नामांकन पाना काफी कठिन हो गया तो मेडिकल स्टूडेंट्स ने कई दूसरे देशों की तरफ भी रुख किया है।

 उक्रेन, आर्मेनिया, कजाकिस्तान, जॉर्जिया आदि देशों में MBBS  की पढ़ाई के लिए छात्र गए हैं। इन देशों में MBBS करने गए स्टूडेंटों ने अपने अनुभवों के आधार पर यह बताते हैं कि ये सभी देश ठंडे जलवायु वाले देश हैं। इन देशों में भारत से जाने वाले विद्यार्थियों को काफी कठिनाई होती है। कभी-कभी तो मौसम शून्य से २० डिग्री नीचे होता है। जहां हमारे यहां के लोगों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। इन देशों में बीमारियां भी हमारे ऊष्णकटिबंधीय जलवायु से अलग है और उन देशों में की गई अध्ययन का उपयोग यहां नहीं हो पाता है। पढ़ाई के दौरान छात्रों को भाषा की भी समस्या होती है, क्योंकि वहां उन्हें उस देश की भाषा भी सीखनी पड़ती है, जो की काफी कठिनाई का काम साबित होता है। कई बार भाषा की सही ज्ञान नहीं होने से मरीजों का सही उपचार नहीं हो पाता है और भारत से गए छात्रों को इससे दूर रखा  जाता है। इससे उनके सीखने की संभावना को काफी कम हो जाती है ।

चुकीं क्लीमेटिक कंडीशन, एजुकेशन सिस्टम और इंग्लिश मिडियम ये सब philippines मे लघभग भारत जैसा है तो यहाँ से जाने वाले बिद्यार्थियो को कोई भी समस्या नहीं होती। 

Philippines के कुछ टॉप के MBBS कॉलेज के नाम कुछ इस प्रकार हैं –

1. AMA school of Medicine

2. Lyceum northwestern university 

3. University of Perpetual Help 

5. DAVAO Medical school foundation 

6. Cagyan state university 

7. Our lady of Fatima university 

और अत्यधिक जानकारी के लिए हमारे ऑफिसियल वेबसाइट www.svfmbbs.com या www.selectmycollege.in पर जाए !

Sai vidya foundation 

9910402938, 8130765507

This Post Has One Comment

  1. Avinash

    nice iinformation

Leave a Reply